livedosti.com

ऑफिस वाली सेक्सी माया – पार्ट २

“चोद बहन के लोडे सससससस, और जोर से चोददददद. बस इतना ही दम है क्या आहहहहहह तेरे लोडे में. लगता है बचपन में माँ का दूध नहीं पिया.” माया उस्मान का लोडा अपने मुँह से निकलते हुए बोली. “रुक छिनाल, अभी दिखता हु तुझे कितना दम हे मेरे लोडे मैं.” कहते हुए अमित ने अपना लोडा बाहर निकल लिया और उस्मान को कुछ इशारा किया जो माया नहीं देख पाई.

उस्मान ने माया का चेहरा अपने लोडे पे दबा दिया. माया आज उस्मान का लोडा अपने गले तक लेना चाहती थी और उसने वैसे ही किया. झड़ने के बाद भी उस्मान का लोडा वैसे का वैसा ही खड़ा था. पूरी तरह लोडा निगलने के बाद माया ने जीभ निकल के उस्मान के टट्टों पे लगाई और फिरने लगी. तभी उसे दर्द होने लगा और डर के मारे उसने अपना चेहरा उठा के पीछे अमित को देखा, जिसके चेहरे पे हैवानियत साफ़ झलक रही थी.

“नहीं अमित, मेरी गांड नहीं. आज तक मैंने अपने पति को भी नहीं मारने दी अपनी गांड. तुम जो बोलोगे मैं वो करुँगी. लेकिन प्लीज मेरी गांआआआआआ” इससे पहले माया अपनी बात पूरी बोल पाती, अमित ने अपना पूरा लोडा माया की गांड में ठूस दिया था. माया की आखें दर्द से बाहर आ गई थी और वो फिर से रोने लगी. माया से अब खड़ा नहीं हुआ जा रहा था और उसकी टाँगे काँप रही थी. उस्मान ने माया का चेहरा पकड़ा और उसके होठो पे अपने होठ लगा दिए और चूसने लगा. अब उस्मान अपना लोडा माया की बोबो पे रगड़ रहा था और माया के होठ चूस रहा था.

XXX Office Sex Kahani > हसीन मेहबूबा – भाग २

अमित के हर धक्के के साथ माया के गले से चीख निकल रही थी जो उस्मान के होठो से दब जा रही थी. उस्मान ने कुछ देर माया के होठो का रसपान किया और फिर माया के होठ अपने लोडे पे दबा दिए. “क्यों चूदासी रांड. अब पता चला कितना दम है मेरे लोडे मैं.” अमित माया की गांड की जबरदस्त चुदाई करते हुए बोला. “साली छिनाल की गांड सच मैं बोहोत टाइट है रे उस्मान. लगता है सच मैं पहली बार मरवा रही है. साला मेरा लोडा छील गया है”. “सरर, अब मुझे भी थोड़े मज़े लेने दो ओह्ह. बड़ी मुश्किल सेसेसेसे किसी तरह अपना पानी निकलने से रोका हुआ है आआह्ह्ह. कस कस के चूस रही है ये रांड. अब आप अपने लोडे को थोड़ा आराम दो”.

उस्मान उठा और जमीन पे लेट गया. अमित ने माया को बाल पकड़ के खींचा, और उस्मान के ऊपर ले गया. उस्मान की तरफ पीठ कर के माया जैसे ही अपनी चुत में उस्मान का लोडा लेने के लिए बैठने लगी, उस्मान ने अपना लोडा पीछे सरका लिए जिससे लोडा लगभग २ इंच माया की गांड में चला गया और फुर्ती से अमित ने अपना लोडा माया के मुँह में ठूस दिया. माया के मुँह में अजीब सा स्वाद घुल गया.

उसे घिन्न आई लेकिन अमित लोडा बाहर निकलने को तैयार नहीं था. इतनी देर की चुदाई के बाद माया के पैर उसका साथ नहीं दे रहे थे और उसके पास कोई चारा नहीं था उस्मान का लंड अपनी गांड में लेने के सिवा. माया ने अपना बदन हल्का छोड दिया और उस्मान का लोडा उसकी गांड में घुसता चला गया. अब माया उछल चल के अपनी गांड मरवाते हुए अमित का लोडा चूस रही थी. अमित माया के चुच्चो से खेल रहा था. केबिन में तीनो की सिसकारियां गूंज रही थी. माया ने अपना हाथ बढ़ाया और अपना दाना रगड़ने लगी.

XXX Office Sex Kahani > पड़ोसन की जवान बेटियाँ – भाग ३

अमित अपने इरादों में कामयब हो चूका था. ना सिर्फ माया अमित और उस्मान का लोड़ो से चुद रही थी, बल्कि खुद अपनी चुत भी मसल रहे थी. आज माया को अमित ने रांड़ी बना दिया था और वो जानता था के अब वो जो चाहे माया से करवा सकता है. उसे पता था के एक बार औरत के अंदर की अन्तर्वासना जाग जाए, तो वो अपनी आग शांत करने के लिए बाजार मैं भी चुद सकती है. अब अमित माया को एक आखरी सुख देना चाहता था. उसने अपना लोडा माया के मुँह से बाहर निकला और माया को पीछे की तरफ धकेला. इधर उस्मान अपनी गांड उछल उछल के माया को चोद रहा था, लेकिन वो जानता था उसे क्या करना है.

माया जैसे ही पीछे की तरफ झुकी, उस्मान ने उसके दोनों हाथ पकड़ के उसे अपने ऊपर और झुका लिया और झटके मारने बंद कर दिए. “रुक क्यों गया माँ के लोडे. चोद ना मेरी गांड. लोडा तो खड़ा हुआ है फिर क्या अपनी माँ चुदने के लिए रुका है” माया उस्मान की तरफ गर्दन घूमते हुए बोली. “मेरी रंडी के लिए आज का आखरी तोहफा मेरी तरफ से” बोलते हुए अमित माया की चुत में अपना लोडा डालने लगा. माया की चुत खींचने लगी और उसे लगा के आज उसकी चुत फट ही जाएगी. “बाहर निकल हरामीमीमीमीमी. बोहोत दर्द हो रहा है. आअह्ह्ह्ह. चुत और गांड दोनों फाड़ेगा क्या. ऊईईईई माँआआआआ”.

अमित ने अपना लोडा पूरी तरह से माया की चुत में घुसा दिया था. माया को लग रहा था आज वो मर ही जाएगी. उसे कभी इतना भरा हुआ महसूस नहीं हुआ. अमित का लोडा उसकी बच्चेदानी तक टकरा रहा था वही उस्मान का लोडा भी काम नहीं था. पहले उस्मान ने धक्के मारने चालू किया, और फिर अमित ने. दोनों एक एक करके धक्के मार रहे थे. “हरामी सालोलोलोलो. जोर से चोदो आअह्ह्ह.

XXX Office Sex Kahani > Sex Stories in Hindi Fonts

और जोर से चोदो अपनी रांड को. फ़क मि हार्ड. एंड फ़क मि फ़ास्ट. कितनी परफेक्ट ताल में चोद रहे हो. कितनी लड़किया छोड़ी है तुम दोनों मिलके आआह्ह्ह्ह आआह्ह्ह्ह आआह्ह्ह्ह आआह्ह्ह्ह. बोलो भड़वो” माया की आग भुजने का नाम नहीं ले रह थी. “तुझे पांचवी है रंडी इस ऑफिस में. इसी केबिन में तुझ जैसी चार और चूड़ी है गांड उछाल उछाल के” अमित चुदाई करते हुए बोला. “लेकिन आपके जैसे चुच्चे किसी के नहीं देखे मैडम” सिसकते हुए उस्मान ने कहा. “तेरे ही है ये चुच्चे मेरे राजा आह्ह्ह्ह. आज से जहाँ चाहे जब चाहे चूस लेना. बस मेरी गांड की अच्छे से सेवा कर. और जोर से चोद. ओह्ह्ह्हह आआह्ह्ह्ह आअह्ह्ह्ह. भड़वे. और ताकत लगा”. अमित थोड़ा आगे झुका और माया की गर्दन पे हमला बोल दिया.

माया अब पिघलने लगी. उसे ुआड़ भी नहीं था वो कितनी बार झड़ चुकी है और उसके अंदर का ज्वालामुखी फिर से फटने वाला था. तीनो ताल से ताल मिला के चुदाई का मज़ा ले रहे थे. सबसे पहले माया का बाँध टूट गया. माया पीछे की तरफ उस्मान पे गिर गई. अमित ने आगे बढ़ के माया के बोबे को मुँह में भर लिया और माया की चुत की गर्मी के आगे टिक ना सका. वो भी झड़ने लगा. झड़ते झड़ते माया ने अपनी चुत और गांड, दोनों टाइट कर ली थी जिससे अमित को लग रहा था माया की चुत इसका लोडा खा जाना चाहती है. वही हाल उस्मान का भी था. माया की टाइट गांड और भी टाइट हो गई थी और उस्मान के लोडे पे जबरदस्त दबाव मन रही थी. उस्मान भी झड़ने लगा उस उसने माया का दूसरा चुच्चा पकड़ लिया.

दस मिनट तक तीनो ऐसे ही हाफ्ते रहे और एक दूसरे के ऊपर पड़े रहे. फिर वो उठे ऑफ़ खुद को साफ़ कर के कपडे पहनने लगे. “ये रही तुम्हारी फोटो माया जो उस्मान ने खींची थी” कैमरा माया को देते हुए अमित बोला.

XXX Office Sex Kahani > पड़ोस की मस्त भाभी

माया ने झट से वो फोटो डिलीट कर दी. “और आज की जो रेकॉर्डिग की है वो भी डिलीट कर दो ना अमित” माया ने अपनी अदा दिखते हुए कहा. “आज वाली रिकॉर्डिंग डिलीट कर दी तो फिर चिड़िया अपने हाथ से निकल जाएगी सर” उस्मान ने धीरे से अमित के कान में कहा जो माया ने सुन लिया. “इतनी चुदाई के बाद तुम्हे लगता है अब में इन दोनों लोड़ो के बिना रह सकुंगी” माया अमित का लंड सहलाते हुए बोली.

“हाहाहाहा. ठीक बोल रही हो तुम माया. आज तुमने जैसे चुदवाया है, दीवाना बना लिया है तुमने मुझे अपना. ये लो. डिलीट कर दी सारी रिकॉर्डिंग्स”. “लेकिन अब मुझे घर जाके मुठ मारनी होगी तो में क्या देख के मरूंगा” उस्मान उदास होते हुए बोला. “उदास मत हो मेरे राजा, कल फिर नयी रिकॉर्डिंग बना लेंगे” बोलते हुए माया हंस पड़ी. तीनो दबी आवाज में हसने लगे और अपना सामन समेटने लगे.

आज xxx office का टाइम कैसे ख़तम हो गया पता ही नहीं चला.