livedosti.com cam chat

दोस्त की चुदास बीवी – भाग २

उसने मुझे कंधों से पकड़ कर ऊपर खींचा और मेरे होठों को चूमने लगी.

मैंने अपना लंड धीरे से उसकी चूत पर रखा और अंदर डालने लगा.

लंड का सुपाड़ा थोड़ा सा अन्दर जाते ही वह ऊपर को सरक गई और मुझे रोक कर बोली आराम से अंदर डालना तुम्हारा लंड राजीव के लंड से बड़ा है.

मैंने हंसते हुए कहा कि कोई बात नहीं धीरे-धीरे इसकी भी आदत पड़ जायेगी.

मैंने शरारत में आकर झटका मारा और अपना आधा लंड अंदर पहुंचा दिया.

मुझे लगा कि उसे दर्द हुआ होगा क्योंकि उसने मेरे कंधे पर काट लिया था.

उसका काटना मुझे अच्छा लग रहा था .

वह अपने दांतो का दबाव मेरे कंधे पर बढ़ाती जा रही थी और मैं अपना बाकी का लंड अंदर करता जा रहा था.

मेरा पूरा लंड अंदर जाते ही उसने मुझे अपने पैरों से जकड़ लिया.

Chudas Bhabhi ki Chudai > दीदी के साथ सेक्स

मैं भी कुछ देर के लिए रुक गया उसके होठों को चूमने लगा.

फिर धीरे-धीरे मैं धक्के लगाने लगा.

अब उसे मज़ा आ रहा था.

वह मेरे हर धक्के पर सिसकियां निकाल रही थी..

आह ओह ऊ और जोर से मजा आ रहा है करते रहो बाबू ओह ऊऊह मैं उसकी सिसकियों की आवाज से और ज्यादा तनाव में आ रहा था…

फिर मैं ऊपर उठा और उसकी चूचियों को अपने दोनों हाथों से पकड़ा जोर जोर से धक्के लगाने लगा.

बहुत मजा आ रहा था.

फिर मैंने उसकी एक पैर को अपने कंधे पर रखा और एक को बिल्कुल सीधा कर दिया.

अब मैंने तिरछा होकर अपना लंड उसकी चूत में डाला वो तड़प उठी.

क्योंकि अब मेरे लंड की चोट सीधी उसकी बच्चेदानी पर पड़ रही थी.

Chudas Bhabhi ki Chudai > भाभी की गांड मारी होली में

उसने मेरे हाथ को सख्ती से पकड़ा और अपनी कमर को उठाने लगी.

थोड़ी देर बाद मुझे महसूस हुआ जैसे उसने पेशाब कर दिया हो क्योंकि मुझे कुछ गरम गरम सा लग रहा था.

लेकिन जब मैंने नीचे देखा हल्का सा सफेद रंग का पानी था.

वह झड़ चुकी थी.

अब वह मुझे अपने ऊपर से हटने के लिए कह रही थी.

मगर क्योंकि मेरा पानी एक बार उसके मुंह में निकल चुका था.

इसलिए मुझे झड़ने में वक़्त था.

मैं चाहता था कि उसे आराम दूं मगर वक़्त की कमी के कारण मैं ऐसा नहीं कर पाया क्योंकि किसी भी वक़्त कोई भी आ सकता था.

Chudas Bhabhi ki Chudai > सील तोड़ने का मजा

अब मैंने उसके पैर को छोड़ा और उसे उल्टा लिटा दिया.

उसे लगा कि अब मैं शायद उसकी गांड मारूंगा और वो अचानक उठ कर बैठ गई और कहने लगी तुम जो कहोगे वह करूंगी मगर गांड नहीं दूंगी.

मुझे भी गांड मारने का कोई शौक नहीं था.

इतनी प्यारी चूत के होते हुए कोई गांड क्यों मारेगा।

मैंने उसे समझाया और उल्टा करके लेटा दिया.

अब मैंने उसकी चूत में लंड डालने की कोशिश की मगर उसकी गांड काफी उभरी हुई थी इसलिए मेरा लंड उसकी चूत के अंदर पूरा नहीं जा पाया.

मैं बेड से नीचे उतरा और उसे पैर में पकड़कर खींचा.

अब उसके पैर फर्श पर थे और वह बेड पर अधलेटी थी.

अब मैंने अपना लंड उसकी चूत में झटके से डाला वो चिल्लाकर झटके से सीधी खड़ी हो गई.

Chudas Bhabhi ki Chudai > चूत का कर्ज़

क्योंकि उसकी चूत अब सुख चुकी थी इसलिए उसे दर्द होने लगा.

उसके बाद मैंने उसका एक पैर मोड़कर बेड पर रखा.

अपने लंड पर थूक लगाया और धीरे से अंदर डाला.

लेकिन ना जाने क्यों वो अब नखरे दिखा रही थी.

शायद उसका पानी निकलने के कारण उसका वासना का भूत उतर गया था और उसे किसी के आने का डर था.

मगर मेरे अंदर अब भी एक जानवर था जो मुझे चैन से बैठने नहीं दे रहा था.

मैंने उसके पैर को मोड़ा और उसे झुका कर अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया.

अब मैं जोर-जोर से धक्के लगाने लगा.

वह जोर-जोर से सिसकियां भर रही थी, चिल्ला रही थी.

Chudas Bhabhi ki Chudai > दारू और चूत का मजा

मैंने उसके बालों को पकड़ा और पूरी जान लगाकर उसे चोदने लगा.

मैं झडने के नजदीक था.

मैंने उससे पूछा कहां निकालूं.

उसने कहा अंदर ही निकाल दो.

और अब मै बेफिक्र होकर धक्के लगाने लगा.

थोड़ी देर बाद मुझे लगा जैसे मेरे अंदर से गरम गरम लावा निकल रहा हो.

लेकिन मेरे पानी निकलने से पहले ही उसकी चूत में फिर से पानी छोड़ दिया.

अब मुझे बहुत अच्छा महसूस हो रहा था.

अभी तूफान आकर गुजर गया था।

वो मुझे देख कर मुस्कुरा रही थी.

मैंने उसे पकड़ा और उसके होठों को चूमने लगा.

Chudas Bhabhi ki Chudai > बड़ी बहन को मेरी दोस्त ने चोदा

अचानक उसने मुझे धक्का दिया और कहा अब जल्दी से तार लगाओ और अपने घर जाओ।

मैंने हंसते हुए कहा कि रुको अभी फाल्ट तो ढूंढ लेने दो और उसकी चूचियां को दबाने लगा.

उसने कहा कि बाकी फिर कभी कर लेना अभी खराब होने के लिए घर में काफी चीजें हैं और हंसने लगी.

मैने उससे पूछा कि अगर वह प्रेग्नेंट हो गई तो उसने कहा कि कोई बात नहीं तुम्हारा दोस्त कल आने वाला है फिर नाम उनका काम तुम्हारा और मैं उसे किश करके वापस अपने घर आ गया।

तो दोस्तों कैसी लगी मेरी कहानी।

सीमा की बुआ को मैंने कैसे चोदा ये कहानी फिर कभी सुनाता हूं।