livedosti.com cam chat

लण्डधारी शैतान

और में फिर से उसके होठ चूम ने लगा इसबार वोभी मेरा साथ देने लगी में कीसी पागल कुत्ते की तरहा उसके होठों पर टुट पड कभी दोनों होठों को अपने होटों मे लेता तो कभी एक होठ को और बीच बीच में होठों को काट भी लेता और राची मेरा पूरा साथ देती तकरीबन 10 से 15 मीनीट तक कीस ही चलता रहा फिर मेने उसका पलू हटाया और उसके गले नीचे चूमने लगा वो तो जेसे पागल होने लगी मेरे बालो में हात घुमाने लगी और मेरा तो हाल पूछो मत क्या हो रहा था फिर मेने धीरे धीरे उसके ब्लाउज के बटन खोलने लगा और वो मैरी टीशट उतार ने लगी हम दोनों को एक दूसरे को कूछ कहने की जरूरत नही पडी.

Hindi Chudai Kahani > आँख खुली तो लंड दिखा

उसने अंदर लाल रंग की ब्रा पहन रखी थी जो मेने बीना देर लगाये कीसी कुत्ते की तरह दाता से खीचके उतार दी और उसके नींपल चुसने लगा कब भी बाये तो कभी दाये अपनी जीभ की टोक उसके नींपलस के दानो को हलके हलके रगड ता तो कभी दाता से काट ता उसके नींपलस के इतगी्त नाके बराबर बाल थे जीसे मेने अपने दातो से खीचा रहा था और वोवो बहुत तेज सिस्कारियां ले रही थी अहह अह हह अह्हह अहह अह हह आ अहह अह हह अह्ह्ह अहहह आआ हा अह्ह्ह अह्ह्ह्ह हह्ह्ह ह्ह्ह्हह हह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह यह्ह्ह्ह याय्य्ह्हह्ह अय्य्य्हह्ह अह्ह्ह्ह ह्ह्ह य्ह्हह्ह्ह्ह |

और मै पागल लो कि तरहा उसके स्थन चूस रहा था उसके गोरे स्थन पर वो भूरे रंग के नीप्ल मूजे पागल कर रहे थे उसके मे जान बुझ कर उसके नीप्ल के बालो को दातों से उखाड़ रहा था थे तभी वो बोली क्या कर रहे हो इसतरह मत करो तूम मुझे पागल कर रहे हो मेने कभी सोचा भी नहीं था कि सीरफ स्थन चूस वाने में भी इतना मझा आता होगा तो मैं बोल की अभी तो सिर्फ शुरू किया है और में धीरे धीरे उसके पेटी कोर्ट का नाडा खोलने लगा और उसके बूब्स मेंरी मूसे, गीरी मेरी लाल से पूरी तरह गीले हो चुके थे और चमक रहे थे मै उठा तो वो..

राची:बोली क्या हूँ

में:क्या मोझे ऐ सभ बीना कपड़े नी काले करना होगा और में अपनी और उसका पेटीकोट भी नीकाल लगे और वो मेरी गेम पेन्ट नीकाल ने लगी मे ने अंदर कूछ भी नहीं पेना था जेसे ही उसने पेरी पेन्ट नीकाली तो मेरे लंड एकदम से उसके सामने आया और वो उसे एकटक देखने लगी.

Hindi Chudai Kahani > दीदी ने कराया धोखे से बलात्कार

में:बोला क्या देख रहे हो वो बोली की क्या कभी लंड नही देखा.

तो वो बोली: की लंड तो देखा है पर इतना लम्बा और मोटा नहीं देखा.

मैं बोला : पर गणेश दा (भैया) तो कफी फीट और पैलवान है.

तो वो बोली : वो तो सिर्फ एक फूगे की तरह है जीसमे सीरफ हवा भरी हुई है.

और वो मेरे लंड को पकड़ कर जोर जोर से हीलाने लगी और लंड को मूमे लेने लगी और एसे चूसने लगी मानो मेरा लंड कौइ बरफ का गोला हो और मेंरा हैल तो पूछो मत वो एहसास में शब्दों में आप को बयां नही कर सकता क्याकी पहली बार मेरे लंड कीसी ने आपने मुंह में लिया था में अपने दोनों हाथों से..

उसे बूब्स दबाये जारा था पर में ने उसे थोड़ा रोक और लाल कलर की पेन्टी नी करने लगा जो कि पूरी तरह से उसकी चूत के पानी से भीगी हुई थी मेने उसे एक बार सूंघा उसकी चूत पर सीरफ उपर वाले ही से में ही हलके बाल थे पर चूत के नीचले ही से में एक भी बाल नहीं था मेने पउसे 69 की पोजीशन मे लेटने को कहा और अब मे उसकी चूत को चाटने लगा और वो मेरे लंड को चूस रही थी जब में ने उसकी चूत में उंगली दाली तो वो भरने लगी “थोड़ा जीते जानूँ वरना मैं तू हमारे मुमे ही जढ जाउंगी.

Hindi Chudai Kahani > भाई ने उठाया मौके का फायदा

और में तेजी से उसकी चूत को चाट ने और और खूरद ने लगा और तेज रमी मीनीट मे सिस्कारिया लेते हूँ सच्च मेरे मूहँ पर झड गयी वो मेरे उपर होने के वजह से उसकी चूत से नीकाला पानी पर चेहरे पर पूरी तरह लगा हुआ था उसकी चूत नीकाला हूवा पानी थोड़ा खारा और चीप चीता पर मेरे लिये कीसी अमरीत से कम नहीं था उसकी चूत से एक अलग सी महेक आरही थी.

मेने उसकी चूत चाटकर पूरी तरह साफ कर दि और वो अब किसी पागल कीतरह मेरे लंड को घटा घप अपने मूमे लेने लगी और मेभी छूटने को आया तो मने उसे कहाँ की मे झडने वाला हु और इतने मेही मेरे लंड से तेज पीचकारी नीले लगी और राची ने मेरा सारा माल पी लीया वो मेरे लंड को अपनी जुबान से चाट कर साफ करने लगी और हम कूछ देर वेसे ही पडे रहे और कुछ देर बाद मेने फोन मे टाइम देखा तो 1:34 होर थे में उठकर बाथरूम में गया तो वो भी मेरे पीछे आगयी.

में बोला: क्या हूवा

तो वो बोली: की मूझे भी लगी है

में:पर अभी तो मे कर रहे हू ना और आपको शरम नही आई

वो: अब कहाँ की शरम जीस लंड को मे मूमे ले चुकी हूं क्या उसमें से मूत नीकल ते नही देखा सख्ती अब जल्दी करो और भाहर जाउँ और मूझे भी करने दो..

Hindi Chudai Kahani > प्यासी बीवी, अधेड़ पति

में: वा वा वा तूम मेरे लंड को देख सकती हो तो में जीसमे चूत को पागल की तरह चुदने वाला हू क्या मे उसे नहीं देख सख्त ता और हमने एक दूसरे के सामने ही मूतने लगे और फिर से कमरे में आगे हम दोनों अभीभी नंगे थे हम दोनों एक दूसरे के पास लेट गये मेने उसे बूब्स पर हाथ फेरते हूँ बोला..

में: गनेश तो काफी नसीब वाला है कि उसे आप जैसी सेक्स की देवी है और में उसके बूब्स को हलके हलेके दबा रहे था पर उसका चेहरा थोड़ा मायुस सा लगा में ने उसके बूब्स को और होटो को चूमकर पूछा क्यों हूँ तो वो मेरे लंड पे हलके हलेके हातको घूमते हुए बोली की कूछ नही पर क्या तूम्हे पताहै की सेक्स की देवी को एक सेक्स का देवता भी चाहिए वरना देवी नाराज हो जाती है.

में उसके उपर आते हूँ बोला राची में ये तो नहीं बोल सकता कि मैं तू म्हारा देवता बन जाउंगा और उसी चूत को चूमकर फिर रहे बोला पर ये ऐ जरूर वादा करता हूँ की तू म्हारी चूत की भरपूर पूजा करुगा और उसकी चूत को फीरसे चाटने लगा और वो मेरे बालो में हात डालकर अपनी चूत पर दबाने लगी और बोली अब ओर मत तडपा वो अब जीभ से मेरी चूत शान्त नहीं होने वाली अब तो इसे लंड चाहिए, चोदो मूझे, दाल दो अपना लंड इतना सूनकर में पागल हो गया और उठकर लंड उनकी चुत की दरार में थोड़ा रगड ने लगा.

Hindi Chudai Kahani > खड़ा लंड को भाभी के चूत पे रगड़ा

वो फिर बोली दाल दो ना अब वो बहुत ही जादा गरम हो गयी थी मूजे तो उसे देख एसा लगा की अगर उसे लंड नहीं मीला तो वो नाजाने क्या करती और मेंने उसकी चुत के छेद पर लंड टीका कर एक जोर दार धक्का लगा या और वो चीख पडी अह्ह्ह्ह हह्ह्ह ह्ह्ह्हह हह्ह्ह अह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह यह्ह्ह्ह थोड़ा धीरे अंनी मेने इतनी जोर से धक्का लगा था कि मेरे लंड पूरा अंदर तक पहुँच गया था ओर मूजे भी थोड़ा दर्द महेसूस होरा थोड़ा पर में ने चूदाइ पर ध्यान लगाया और उसके थोड़ा डा धीरे धीरे छोडने लगा क्योंकि मूझे अपनी पहली चूदाइ का पूरा आंनद लेना था और वो से भी देना था वो बहुत धीरे धीरे सिस्कारियां ले रही थी अहह अह हह अह्हह अहह अह हह आ अहह अह हह अह्ह्ह अहहह आआ हा अह्ह्ह ओ…..

अंनी तोम की तन्ही अछी तरह से चोदते हो एसे ही कर ते रहो और मेने थोड़ी देर बाद अपनी गलती बढा दी तो वो और जोरसे वो सिस्कारियां लेने लगीर अहह अह हह अह्हह अहह अह हह आ अंनी और जौर से और जोर से अंनी कीतना अहह अह हह अह्ह्ह कीतना मझा आरहा है औऔ अहहह आआ हा अह्ह्ह तूम्हारा लंड मेरे बच्चे दानी अहह अह हह अह्ह्ह बच्चे दानी तक के छेद रहा है अहह अह की तन्हा की तन्हा साइज का है तूम्हारा लंड हह अह्ह्ह अह हह अह्ह्ह और मे उसे चूदाइ हूँ बोला साडे नउ इंच का है और उसे तेजी के साथ चुदने लगा और वो अहह अह हह अह्ह्ह में छूटने वाली हू अंनी छूटने वाली हू और एक चीख के साथ वो झढने ली और थोड़ी अकड सी गयी पर मेरा काम अभी खत्म नही हूँ था.

Hindi Chudai Kahani > कुंवारे लंड का बंटवारा

में उसे चुदेही जा रहा था पर पाच -छे धक्को के बाद मूझे लगा गी में भी झढने वाला हू मै राची को बोला राची में झढने वाला हूँ वो बोली अंनदर ही झढ जाओ और में ने उसी चूत में अपना पूरा वीर नीकालने लगा और हम दोनों एक दूसरे पर कूछ देर वेसे ही पढ़े रहे और फिर जब मूझे सास आई तो मेने पूछा राची केसी थी चूत की पूजा और वो बोली की बहोत बहोत अच्छी पर तूम चूदाइ के देवता नहीं बन पाये ओर मे धोड़ा मायुस होगा पर वो हस पडी और फिर से बोली की तूम चूदाइ के देवता तो नहीं बन पाये पर लंड वाले शेतान जरुर हो और मेरे लंड को हाथों में लेकर मूझे कीस करने लगी.

वस रात मेने राची को ती बार और चोदा और अभी भूभाग में थकान के वजह से उठ भी नहीं पा रहा था और घर वाले मूझे पासी के दवा खाने ले गये.

तो ये थी मेंरी पहली चूदाइ और इंसान से शेतान बनने की कहानी मेरी कहानी पढने केलिए शुक्रिया कहानी नही केसी थी मूझे जरूर बताना.

Incoming searches – chudai kahani, desi chudai, ghar me chudai, bhabhi ki chudai, chut chudai, biwi ki chudai